एक मुख्यमंत्री जिनकी बहन फूल बेचती है

हिन्दू धर्म के चार प्रमुख त्योहार होते हैं उनमें से रक्षाबंधन का एक विशेष स्थान है.भाई बहन के प्रेम का प्रतीक कहे जानें वाला यह त्योहार श्रावण पूर्णिमा को मनाया जाता है. इस खास दिन को सभी बहनें अपने भाई के हाथों में राखी बांधती है. जिससे भाई अपनी बहन की रक्षा करने का वचन देता है.ऐसी  ही एक बहन पिछले 27 सालों से अपने भाई को राखी बांधने का इंतजार कर रही है, वो हर साल इंतजार करती हैं कि काश वह अपने भाई की कलाई पर राखी बांध सकें.

काफी लम्बे समय से एक बहन अपने भाई का इंतजार करती आई है और आज भी यह इंतजार खत्म नहीं हुआ है. हम बात कर रहे हैं देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की. पहली बार मीडिया से बात करते हुए उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ की छोटी बहन से पता चला कि वो ऋषिकेश से लगभग 30 किलोमीटर ऊपर जंगलों में झोपड़ीनुमा दुकान पर काम करके अपना पेट पाल रही है.

 

Image result for 27 सालों से योगी की लाडली बहन कर रही इंतजार, बोली-हर बार सोचती हूं, अबकी बार आएंगे भैया
Source

एक मीडिया रिपोर्ट कि माने तो, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तीन बहनें है जिसमें से दो बहनें ठीक-ठाक परिवार में हैं, लेकिन शशि अपनी जिंदगी बड़ी मुश्किलों के बीच गुजार रही हैं. योगी की बहन शशि ने बताया कि “बचपन में रक्षाबंधन के त्यौहार के दिन वह अपने चारों भाइयों को सामने बैठाकर राखी बांधती थीं और उपहार के तौर पर योगी आदित्यनाथ उर्फ़ अजय बिष्ट उनसे यही कहा करते थे कि अभी तो फिलहाल मैं कुछ नहीं कमा रहा हूं, लेकिन जब बड़ा हो जाऊंगा तो तुम्हें खूब सारे उपहार दूंगा”.

Source

योगी की बहन अपना और अपने घरवालों का पेट पलने के लिए करती है यह काम

योगी की बहन शशि उत्तराखण्ड में पार्वती मंदिर के पास फूल, प्रसाद, माला और बिस्कुट की दुकान की चलाती है ताकि अपना और अपने परिवार का पेट पाल सके. शशि ने न्यूज़ चैनल को बताया कि “इस बार भी उन्होंने अपने भाई अजय बिष्ट को दिल्ली के पते पर राखी भेजी थी और पिछले 25 से 27 सालों से वह इसी तरह से राखी भेज रही हैं लेकिन आजतक भाई का कोई जवाब नहीं आया है ”.

 

बहन इस राखी पर भी चाहती थी भाई से उपहार

हर साल की तरह इस साल भी शशि अपने भाई से उपहार चाहती थी. शशि उपहार में चाहती है कि उनका भाई उत्तर प्रदेश की खूब सेवा करें और एक दिन वह देश की सेवा में भी बड़ी भागीदारी रखें. शशि यह भी छठी है कि एक बार उनके भाई योगी आदित्यनाथ उनसे मिलने आए अगर वो उत्तरखंड नहीं आ सकते हैं तो कम से कम अपनी बहन को अपने पास तो जरूर बुलाएं.

Image result for 27 सालों से योगी की लाडली बहन कर रही इंतजार, बोली-हर बार सोचती हूं, अबकी बार आएंगे भैया
Source

योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने हैं तब से शशि को बहुत डर लगता है. जब शशि अखबारों और समाचार में पढ़ती और देखती हैं कि उनकी जान को खतरा है तो वह डर जाती हैं। शशि रोज भगवन से प्रार्थना करती हैं कि उनका भाई इसी तरह से सेवा करता रहे और भगवान उनकी हिफाजत करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *